Wormholes Explained In Hindi || वार्महोल से समय यात्रा || वर्म होल क्या होते हैं || ये कैसे बनते हैं || वार्महोल से समय यात्रा || Einstein-Rosen bridge

Wormholes Explained In Hindi || वार्महोल से समय यात्रा || वर्म होल क्या होते हैं || ये कैसे बनते हैं || वार्महोल से समय यात्रा || Einstein-Rosen bridge

wormholes-in-hindi

 

 

दोस्तों  आज  हम  फिर  एक  नए  Topic  पर  बात  करेंगे  वैसे आप  सब  जानते  ही  है  की  आज  हम  किस  चीज़  के  बारे  में पढ़ेंगे  र  जानेंगे  तो आईये  हम  जानते  है  वैसे , हम  इंसान   हर  वक्त  कुछ  नया  जानने  और  सिखने  के  लिए  बेचैन  रहते  है  और  हम   ख़बर  भी  आयेदिन  सुनते  रहते  है  की  आज  ब्रह्माण्ड  में  नया  ग्रह   खोजा  गया  जहा  जीवन  संभव  हो  सकता  है। तो  उसी  जिज्ञासा  भरा  प्रश्न  में  से  एक  ये  भी  प्रश्न  है  की  वर्महोल { Wormhole  } क्या  है  और  ये  कैसे  बनते  है  और  क्या  इस  से  समय  यात्रा  मुमकिन  है। 

तो  बिना  समय गवाये  शुरू  करते  है …So Let’s Begin…

हम   जानते  है  की  इस  Universe में  और  भी  ग्रह  पर   जीवन सम्भव  है   मगर   हम  वहा  नहीं  जा  सकते  क्योकि  हमारे  धरती  पर  कोई  ऐसी  चीज़  नहीं  है  जो  Light  से  भी  ज्यादा  Speed  से  जा  सके  क्योकि  ये  ग्रह  हमसे  लाखो – करोड़ो  Light  Year  दूर  है  और  ब्रह्माण्ड  में  ऐसी  कोई  वस्तु  नहीं  है  जो  प्रकाश  से  तेज  गति  कर  सके लेकिन  एक  है  रास्ता  जो  प्रकाश  से  भी  तेज है  और  वो  है   वर्महोल;  क्या  है  Wormhole।  

एक  वर्महोल ; 
एक  जादुई   प्रवेश  द्वार  जो  दो  बिंदुओं  को  अंतरिक्ष और  समय  में  एक  दूसरे  से  जोड़ता  है। एक वर्महोल , जिसे  आइंस्टीन – रोसेन  पुल  के  रूप  में  भी  जाना जाता है , 
अंतरिक्ष  और  समय  को  तह  करने  का  एक  सैद्धांतिक तरीका  है  ताकि  आप  अंतरिक्ष  में  दो  स्थानों  को  एक  साथ  जोड़ सकें। फिर आप  एक  स्थान  से  दूसरे  स्थान  पर  तुरंत  यात्रा  कर 
सकते  हैं। जैसा  कि आइंस्टीन ने  हमें  सिखाया  था,  गुरुत्वाकर्षण एक  बल  नहीं  है  जो  चुंबकत्व  जैसे  पदार्थ  को  खींचता  है,  यह वास्तव  में  स्पेसटाइम  का  युद्ध  है। चंद्रमा  को  लगता  है  कि  यह अंतरिक्ष  के  माध्यम  से  एक  सीधी  रेखा  का  अनुसरण  कर  रहा है, लेकिन  यह  वास्तव  में  पृथ्वी  के  गुरुत्वाकर्षण  द्वारा  बनाए  गए विकृत  मार्ग { Space Time Curve }  का  अनुसरण { Follow }  कर रहा  है। 
वर्महोल  क्या  है :- वर्महोल   एक  Shortcut  रास्ता  है  Space Time  में  जो  दो  जगहों  को  आसानी  से  जोड़ता  हो। मान  लीजिये  की  हम  एक  Univers  में  रहते  है  और  हमे  दूसरे  Univers  में  जाना  है  जो लाखो – करोड़ो  Light  Year  दूर  है। अगर  हम  अपना Spacecraft  या  और  कोई  Spaceship  से  जाने  की  कोशिस  करेंगे  तो  हो  सकता  है  अरबो  साल  लग  जाये  लेकिन  अगर  हम  Space को मोड़  कर  छोटा  कर  दे  तो  इस  में  समय  भी  कम  लगेगा और  हम  दूसरे  Univers  में  जल्दी  से  प्रवेश  कर  पाएंगे।इस  विधि  को   Space Time Curve  कहा  जाता  है  और  इन्ही Shortcut  रास्ता  को  वर्महोल  कहते  है। 

 

वर्महोल  बनते  कैसे  है :- Actually  वर्महोल  इतना  छोटा  होता  है  की  इस  में  सफर  हम  कर  ही  नहीं  सकते  है  लेकिन  ये  वास्तव  में Exist  करता  है। अब  हम  वर्महोल  में  Travel  कर  सकते  है  लेकिन  उसका  Size  बढ़ाना  होगा  जो  Exotic  Matter  के  द्वारा  ही  संभव  है  लेकिन  समस्या  ये  है  की  Exotic Matter  सिर्फ Theories  में  ही  है। क्या  आप  जानते  है  की  जो  Naturalवर्महोल  होता  है  उसमे  सिर्फ Exotic  Matter  ही  प्रवेश  कर  सकता  है  बाकि कोई  और  करेगा  तो  वो  नष्ट  हो  जायेगा। 

आईये एक  वर्महोल  की  कल्पना  करते  है , वर्महोल  के  एक  तरफ के  गुरुत्वाकर्षण  कुएं  को  नीचे  गिराएं, और  फिर  तुरंत  दूसरे स्थान  पर  दिखाई  देते  हैं। लाखों  या  अरबों  प्रकाश  वर्ष  दूर। जबकि  वर्महोल  सैद्धांतिक { Theoretically } रूप  से  बनाना संभव  है, वे  व्यावहारिक { Practically }  रूप  से  असंभव  हैं  जो हम वर्तमान  में  समझते  हैं। 

                                    
 
आज  भले  ही  वर्महोल  का  निर्माण  किया  जा  सकता  है,  वे  पूरीतरह  से  अस्थिर  होंगे,  उनके  गठन  के  तुरंत  बाद  ही  ढह  जाएंगे। यदि  आपने  एक  छोर  से  चलने  की  कोशिश  की,  तो  आप  ब्लैक होल  में  भी  जा  सकते  हैं।
एक  संभावना  यह  है  कि  वर्महोल  स्वाभाविक  रूप  से  आभासी { Virtual } कणों  की  तरह  दिखाई  देते  हैं  जिन्हें  हम  जानते  हैं। सिवाय  इसके  कि  यह  प्लैंक  स्केल  पर, असंगत  रूप  से  छोटा होगा।  आपको  एक  छोटे  अंतरिक्ष  यान  की  आवश्यकता  होगी।
 
क्या  आप   जानते  है  वर्महोल  के  सबसे  आकर्षक  प्रभावों  में  से एक  यह  है  कि  वे  आपको  वास्तव  में  समय  पर  यात्रा  करने  की अनुमति  दे  सकते  हैं। और  आप  वर्महोल  भी   लैब  में  बना  सकते   है; और  सफ़र  भी  कर  सकते  है।  स्पेस   में  आपका  समय  स्थिर  होगा  जबकि  पृथ्वी  पर  साल  बीतते  जायेगे। 
लेकिन   कुछ  भौतिकशास्त्री,  जैसे  लियोनार्ड  सुस्किन्द  को  लगता है  कि  यह  काम  नहीं  करेगा  क्योंकि  यह  भौतिकी  के  दो  सबसे बुनियादी  सिद्धांतों  का  उल्लंघन  करेगा: स्थानीय  ऊर्जा  संरक्षण { Local Energy Conservation } और  ऊर्जा – समय  अनिश्चितता  सिद्धांत { The Energy-Time Uncertainty Principle }. 


अब  मान  लीजिये  की  हम  ने  वर्महोल  से  रास्ता  निकाल  लिया  फिर  भी  हमारे  सामने  कई  परेशानिया{ Consequences } है ,जैसे :-
 
1. एक  ये  मुसीबत  है  की  अगर  हम  वर्महोल   से यात्रा  करते  है  तब  हम  वहा  पहुंच  तो  जायेगे  लेकिन  कोई  और  समय  में  जैसे  भविष्य  व  भूतकाल  में  जो  संभव  ही  नहीं  हो  सकता  है  क्योकि  ये  भौतिकी  के  विरुद्ध  है। 
 
2. दूसरा, ऐसा  ना  हो  की  हम  Universe  में  ही  खो  जाये  क्योकि कुछ Theories  में  Parallel Universe  के  बारे  में  इस  तरह  से  तथ्य  दिए  हुए  है। 
 

 

तो  आज  का  सफर  बस  यही  तक  का  था। तो  इसी  के  साथ  मैं  Ainesh  कुमार  आशा  करता  हूँ  की  आपको ये Information  अच्छी  लगी  होगी। अब  आप  सब  से  विदा  लेने  की  समय  आ  गया  है 
आप  सब  का  धन्यवाद !!!
 
Posted By Ainesh Kumar                      

2 thoughts on “Wormholes Explained In Hindi || वार्महोल से समय यात्रा || वर्म होल क्या होते हैं || ये कैसे बनते हैं || वार्महोल से समय यात्रा || Einstein-Rosen bridge”

Leave a Comment