What is backlink in hindi- बैकलिंक क्या होता है और बैकलिंक्स के लिए क्यों जरुरी है- Backlinks se blog ke ranking kaise- seo ke liye backlinks kaise banaye

What is backlink- बैकलिंक क्या होता है और बैकलिंक्स के लिए क्यों जरुरी है – Backlinks se blog ke ranking kaise- seo ke liye backlinks kaise banaye

backlinks क्या है , seo के लिए backlinks
what-is-backlink-in-hindi
आज हम देखेंगे Backlinks के बारे में ये seo (search engine optimization  ) में  सबसे ज्यादा जरुरी है वो है backlinks ये कैसे काम करते है और हम backlinks को कैसे ब्लॉग या वेबसाइट के माध्यम से शुरू कर सकते है, कैसे गूगल में हमारा वेबसाइट या ब्लॉग को high rankink provide कराते है,  जब हम किसी भी ब्लॉग या वेबसाइट को गूगल में पहले पेज पर रैंक करते देखते है तो कही न कही उस पोस्ट में backlinks का बड़ा role होता  है।  मैंने देखा है की basically ज्यादातर न्यू bloggerके मन में ये सवाल होता ही है की क्या है backlinks, ये कैसे काम करते है, इसका seo में कैसे इस्तेमाल किया जाता है , इत्यादि। 


तो दोस्तों आज हम यही जाननेवाले है की backlinks क्या है , इसको कैसे बनाया जाता है इसकी मदद से कैसे कोई भी वेबसाइट या ब्लॉग गूगल के पहले पेज पर रैंक करता है और इसके कितने प्रकार है …इत्यादि। 
आप को मैंने बताया है की किसी भी नए पोस्ट को या ब्लॉग या वेबसाइट को गूगल के 1 से 10 पेज तक रैंक करवाने के लिए आप को backlinks की जरूरत पड़ेगा ही और साथ ही इसका अच्छा खासा ज्ञान भी और अगर ज्ञान ही नहीं रहेगा तो हम अपने वेबसाइट या ब्लॉग के लिए कैसे backlinks use कर सकते है, तो आज हम इसी के बारे में विस्तार से जानेंगे तो चलिए शुरू करे। 

Backlinks  क्या होता है ( What Is  backlink In हिंदी )


अगर मैं आप सब को सिंपल और सीधा बोलू तो backlinks होता है,  जब भी आप किसी और के  वेबसाइट या ब्लॉग का लिंक अपने वेबसाइट या ब्लॉग पर दिखाते है या इसके उल्ट जब भी आप किसी और को अपने वेबसाइट या ब्लॉग का लिंक देते है तब यह backlinks कहलाता है और जब भी कोई user उस लिंक पर क्लिक करता है तब वो डायरेक्ट आप के वेबसाइट या ब्लॉग पर redirect हो जाता है।  तो दोस्तों आप समझ गये है की backlinks क्या है। 

यह भी पढ़े:-How To Increase Blogger Website Speed In Hindi

Backlinks क्यों जरुरी है ( Why Backlink Is So Important )

मैंने आप को बता दिया है की किसी भी वेबसाइट को या ब्लॉग को गूगल पर अच्छे से रैंक कराने में जो मदद करते है वो है backlinks और keywords ये दोनों ही बहुत जरुरी  है backlinks के बारे में तो मैंने बताया है लेकिन keywords भी उतना ही जरुरी है क्यूकी अगर आप अच्छे keywords इस्तेमाल करते है जो आपके टॉपिक से related होगा तो आपके post को गूगल पर रैंक कराने में मदद होता है . साथ ही , अच्छे-खासे ट्रैफिक भी gain हो पायेगा google से। 

आप जान गये है की seo के दो factors ( keywords व backlinks ) बहुत जरुरी होता है किसी भी पोस्ट को अच्छी रैंकिंग दिलाने में और आप के मन में कभी न कभी ये सवाल किया होगा की “” मेरे पोस्ट जिस टॉपिक पर है उस से related already बहुत सारे पोस्ट लिखे जा चुके है तो फिर हमारा कैसे गूगल के पेज पर रैंक करेगा “” दोस्तों actually बात यह है की google का एक अपना नियम-कानून है जिसे algorithms कहते है और इसका एक उसूल है की अगर आप इसके नियम पे चलते है तब  आपके वेबसाइट या ब्लॉग का रैंकिंग अपने आप बढ़ाने लगता है . बस आप को algorithms को समझना  बहुत जरुरी है साथ ही अच्छे-अच्छे पोस्ट भी लिखने है और tag इत्यादि।देने भी है . आप को गूगल अपर अथॉरिटी कायम करना है और सब इसी में लगे रहते है और वो आप quality content लिख कर कर सकते है। अब तो गूगल के नए algorithm आया हुआ है जिसे “Penguin algorithm कहा जाता है, पहले क्या  होता था की low content back-links भी गूगल पर रैंक हो जाते थे लेकिन जब से यह algorithm आया है तब से ऐसा नहीं हुआ है . अगर आप book रिव्यु से सम्बंधित आर्टिकल लिखते है लेकिन अगर वही पर आपका दोस्त technology से संभंधित आर्टिकल लिखता है और उसका काफी famous वेबसाइट है और आप चाहते है की उसके वेबसाइट पर अपना back-links का फंडा अपनाऊ तो अब ऐसा बिलकुल नहीं होगा और आप के जो भी कुछ domain authority बढ़ा था वो भी खत्म हो जायेगा . तो आप को लिंक ध्यान से share करना है। 
आपके द्वारा किसी और के वेबसाइट या ब्लॉग का  “” या “” फिर आपका किसी और के वेबसाइट या ब्लॉग पर लिंक से user redirect होकर आता है और जिस से वेबसाइट और ब्लॉग पर ट्रैफिक बढ़ता है . और कमाई भी बढ़ जाता है . जब आप के वेबसाइट पर ट्रैफिक आने लगता है backlinks की वजह से तब आपकी वेबसाइट व ब्लॉग के Domain authority भी बढ़ने लगता है  जिसका मतलब है  की आपका पोस्ट अब गूगल के पहले पेज पर भी आ सकता है। 
अब मैंने आप को कहा है की आप किसी और के  वेबसाइट या ब्लॉग का लिंक अपने वेबसाइट या ब्लॉग पर दे सकते है या फिर इसके उल्ट भी …लेकिन मैं ये बिलकुल भी नहीं कहूँगा की आप किसी के भी वेबसाइट या ब्लॉग पर जा कर यूँही अपने  ब्लॉग का लिंक share करे. क्युकि मैंने पहले ही  बता दिया है की गूगल के कुछ नियम है उसको आपको फॉलो करना ही होगा अगर आप एक blogger है तो। 
अब आपके मन में सवाल उठ रहा होगा की तो आखिर हम किस तरह से  अपने ब्लॉग या वेबसाइट का लिंक share कर सकते है क्युकी अभी तक मेरे वेबसाइट या ब्लॉग पर ट्रैफिक नहीं आ रहे है तो दोस्तों अब  हम बात करते है backlinks के प्रकार के बारे में।

Backlinks के प्रकार ( types ऑफ़ backlinks in hindi )

दोस्तों backlinks के मुख्य रूप से दो प्रकार है …


1.Do-Follow Backlink

2.No-Follow Backlink

आप को पहले Link Juice के बारे में बता दूँ …What Is Link Juice ???

जब भी कोई web-page के माध्यम  से आपका पोस्ट या वेबसाइट का होम पेज लिंक होता है या जुड़ा हुआ होता है तो उसे ही link juice कहते है।

लिंक juice के माध्यम से कोई भी user आपके वेबसाइट पर आते है यानी जब भी कोई आपके टॉपिक से सम्बंधित गूगल पर search करेगा तब web-page के हेल्प से यानी search engine से एक लिंक juice निकलेगा जिसके माध्यम से आपके पोस्ट का गूगल पेज पर रैंकिंग बढेगा तथा visitors भी बढ़ेंगे साथ की गूगल की नजर में आपके ब्लॉग का या वेबसाइट का domain name की authority भी बढेगा।

दोस्तों अब हम ने जाना की कैसे कोई भी लिंक हमे कैसे अच्छा-खासा visitors provide करा सकता है तो अब हम बात करते है की कितने प्रकार के लिंक होते है।


Do-Follow लिंक में search engine के माध्यम से लिंक juice रूल फॉलो होता है लेकिन No-Follow लिंक में search engine के माध्यम से लिंक juice रुल फॉलो नहीं होता है क्यूकी No-Follow में Tag जुड़ जाता है।

Types Of Links ( लिंक के प्रकार )

दो प्रकार के लिंक होते है पहला Low quality Links और दूसरा High Quality Links


Low Quality Links


जब भी किसी Rejected वेबसाइट जैसे की Spam Sites या फिर Porn Sites जो गूगल द्वारा भाव नहीं दिया जाता है वो जब आपके किसी माध्यम से आपके वेबसाइट या ब्लॉग पर आता है तब उसे ही low quality लिंक कहते है . इसके माध्यम से आपके वेबसाइट की रैंकिंग बिलकुल गिर जाती है। 

High Quality Links

जब भी गूगल के नजर में trusted या पोपुलर वेबसाइट आपके ब्लॉग या वेबसाइट पर लिंक किया होता है या आता है तब उसे high quality links कहते है . और इससे हमारी वेबसाइट और ब्लॉग पर काफी पॉजिटिव प्रभाव पड़ता है। 

दोस्तों आप ने कही न कही गोंर किया होगा की जब हम कोई पोस्ट पढ़ते है तब उसी पोस्ट में कई सारे और भी पोस्ट के links जुड़े होते है जो उसी पोस्ट के टॉपिक से related होता है जिसे हम Internal Linking कहते है . और हाँ दोस्तों कही न कही ये लिंक भी मदद करती है हमारे वेबसाइट को गूगल में रैंक कराने में।

यह भी पढ़े:-What Is Web Hosting-Explained In Hindi

Do-Follow Backlink क्या होता है ?

इस backlink प्रक्रिया में लिंक juice काफी मदद करता है मतलब मान लीजिये की आप का जिस niche पर आपका वेबसाइट बना हुआ है उसी जैसा कोई और famous या प्रसिद्ध blogger आपके वेबसाइट लिंक को Natural तरीके से वो अपने पोस्ट में mention करता है तो उसे ही Do-Follow Backlink कहा जाता है . इस प्रक्रिया में search engine से link juice निकलता है जो काफी सही बात है। 

आप इस के माध्यम से जान सकते है :-


<a href=”https://www.gyanvigyanfacts.com/”>Gyan Vigyan Facts</a>

दोस्तों मैंने यहाँ पर अपना ब्लॉग का url share किया है और ब्लॉग address दिया है आप अपना use करे . अब हम बात करते है nofollow backlink के बारे में। 

No-Follow Backlink क्या होता है ?

इस प्रक्रिया में search engine के माध्यम से आपका वेबसाइट या ब्लॉग का रैंकिंग नहीं  होगा क्यूकि इसमें link juice का कोई योगदान नहीं होता है साथ ही इस में अगर आप किसी के वेबसाइट या  ब्लॉग पर अपना पोस्ट share करते  है तब उसके लिंक के माध्यम से आपके वेबसाइट पर visitors या followers तो बढेगा पर search engine में आपके domain authority कम हो जाएगा। 
आप इस के माध्यम से जान सकते है :-


<a href=”https://www.gyanvigyanfacts.com/”ref=”nofollow”>Gyan Vigyan Facts</a>

दोस्तों अब हम आधे से ज्यादा आर्टिकल cover up कर चुके है अब हम जानते है की backlinks बनते कैसे है। 


दोस्तों हम पहले ये जाने की backlinks कैसे बनाते है हम सबसे पहले जानते है की seo में backlinks का क्या Importance है ???


देखो दोस्तों मैंने पहले ही seo फ्रेंडली आर्टिकल और quality content पर बता दिया है की आप सब को dofollow backlinks ही बनाने है लेकिन साथ में nofollow backlinks भी बनाये अगर आप 80% dofollow backlinks बनाते है तो 20% nofollow backlinks बनाये ताकि गूगल को ना लगे की आपने कोई स्पैम किया है। 

1.Organic Ranking Improve

आप जानते है की अगर आप dofollow backlinks create करते है तब आपके sites के domain साथ ही google search engine के नजरों में आपकी वेबसाइट का अच्छा एक impact पडता है, जो बहुत जरुरी है किसी भी sites के लिए . अगर आप के वेबसाइट का लिंक किसी और के वेबसाइट पर है dofollow backlinks के through तब उसका search engine में काफी अच्छा इम्प्रैशन पड़ता है और उसके द्वारा Organic Ranking भी Improve होना शुरू हो जाता है। 

2. Refferal Traffic

जब कोई नया visitor आपके वेबसाइट पर विजिट करता है  और बिना पढ़े ही वापिस चला जाता है चाहे कोई भी कारन हो,  Major बात हो सकता है की आपका आर्टिकल quality less हो तो वो इस माध्यम से कम होता है …basically अगर हम Refferal Trafficक्या होता है इस पर बात करे तो मैं बताऊँ की जब भी आपके वेबसाइट पर ट्रैफिक search engine के द्वारा ना आकर बल्की किसी वेबसाइट के लिंक द्वारा Suggested से आया है तब उसे Refferal traffic कहते है। 

How To Make Back-links ( Back-links कैसे बनाते है )

एक बात आप याद रखना की जब  भी आप backlinks बनाते है तब quality backlinks ही बनाये  यानी की Do-Follow Backlink ही बनाये। 
Ancher Text :- जब भी हम कोई text लिखते है जो hyperलिंक के लिए उसे ही ancher text कहा जाता है इसकी मदद से keywords रैंक अच्छे से करता है या यूँ कहे की ये मदद करता है। 



मैंने आपको बताया है की आपको quantity से ज्यादा quality content पर ध्यान देना है साथ ही यह भी देखे की अगर आप का ब्लॉग fitness से related है तब आपको backlinks भी उसी वेबसाइट पर देने है जो fitness से सम्बंधित है kyuki ये अच्छा रैंकिंग दिलाने में मदद करता है। 
दोस्तों वैसे backlinks बनाने के लिए कई सारे टेक्निक्स है जिसे हम लिंक building टेक्निक्स कहते है ( जिसके माध्यम से backlinks बनाया जाता है )

कुछ Link building techniques निच्चे दिए गये है :-

1. Guest Post

अगर आप एक नए blogger है मेरी तरह तो आपको जरुर इसे use करना चाहिए kyuki यह काफी important है इसके अनुसार आप इसमें एक dofollow backlinks create कर पाते है basically आप को किसी और के वेबसाइट पर आपका पोस्ट share करना होता है बाद में उस वेबसाइट के owner आपके  वेबसाइट का एक backlinks provide करवाता है जो आपके वेबसाइट के home page से add होता है।

यह भी पढ़े:-On Page SEO kya Hota Hai- On Page SEO Kaise Karte Hai?


अब आप के मन में question आ रहा होगा की हम guest पोस्ट कैसे लिखे और कहा लिखे ?

तो दोस्तों आपको करना यह है की आपको अपने niche से related वेबसाइट को check out करना है और उसे किसी social मीडिया के माध्यम से contack करना है जैसे की facebook, ट्विटर और instagram, etc. और आपको उनसे कहना है की मैं आपके वेबसाइट के लिए एक guest पोस्ट लिखना चाहते है फिर वो अपना बात रखेगा और इस तरह से आप अगर उसके दोस्त हो  जाते है और वो मान जाता है इस बात को तब आपको एक अच्छा सा ब्लॉग या आर्टिकल लिखना है ताकि वो आपको एक dofollow backlinks दे सके और आप try करना की आप अच्छा से अच्छा आर्टिकल लिखे। 

2.Write quality content 

दोस्तों आप भी मानते है की quantity doesn’t matter but quality do matter तो आपको बहुत फायदा होगा अगर आप हर वक्त एक नया आर्टिकल लिखते वक्त ये सोचे की ये मेरे वेबसाइट का पहला आर्टिकल है और मुझे इसे अच्छे से लिखने है kyuki दोस्तों great content सबसे अच्छा है visitors को लुभाने के लिए तो बस आपको अच्छे content लिखने है। 

3.Blog Commenting

दोस्तों आपको अपने niche से सम्बंधित ब्लॉग और वेबसाइट के पोस्ट व आर्टिकल को ढूँढना है और उसके निचे कमेंट करना है इसे अच्छी-खासी ट्राफिक इनक्रीस होगा आपके वेबसाइट या ब्लॉग के लिए वैसे ये process nofollow backlinks है लेकिन इससे आपके sites पर ट्रैफिक इनक्रीस होने लगेगा तो जाईये और कमेन्ट कीजिये। 

4.Broken Link

आपने कई बार किसी famous blogger के वेबसाइट या ब्लॉग पर विजिट करते है लेकिन जब आप अपने interest के according आर्टिकल ढूंढते है तब वंहा पर कोई content ही नहीं लिखा होता है वैसे basically बात यह है की उस पर पोस्ट लिखा गया था लेकिन किसी कारन से  वो आर्टिकल brokeहो गया है यानि आप उसको नहीं पढ़ सकते है , लेकिन अगर आप एक blogger है तब आपके लिए यह एक अच्छा opportunity है अपने वेबसाइट को प्रमोट या back-links provide करवाने के , आपको करना यह है की आपको chrome extension से  broken लिंक checker install करना है और आपको अपने niche से सम्बंधित वेबसाइट पर जाना है और वहा से इसका इस्तेमाल करना है अगर आपको broken आर्टिकल मिलता है तब आपको social मीडिया के माध्यम से आपको बोलना है उस वेबसाइट या ब्लॉग के owner को की आपका इस टॉपिक से सम्बंधित आर्टिकल broke हो चूका है और मैंने इसी से relevant एक पोस्ट लिखा है अगर आप मेरे इस पोस्ट को अपने इस पोस्ट की जगह दे देंगे तो लोग मेरे वेबसाइट या ब्लॉग पर आ सकते है . उसके बाद आपको चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है kyuki अब सब visitors और उस वेबसाइट के DA ( domain authority ) संभाल लेगा। 

5. Social media sharing

आप जानते है की कोई भी चीज़ को वायरल करवाने में social मीडिया जैसे की facebook, whatsapp, istagram और ट्विटर कितना बड़ा role अदा करता है तो बस आपको भी अपने ब्लॉग और वेबसाइट को यहाँ पर प्रमोट करना है . आप facebook पर पेज बना सकते है जिस माध्यम से आप अपना आर्टिकल share कर सकते है साथ ही आप अपने niche से related group join कर सकते है आप अपना वेबसाइट और ब्लॉग उस पर share कर सकते है . 

तो दोस्तों आपको जरूर इस ब्लॉग से पूरा-पूरा ज्ञान हो गया होगा backlinks के बारे में अगर आपको मेरे द्वारा दिया गया information valuable  लगता है तो please इसे अपने दोस्तों और रिस्तेदारो में शेयर करे। 


Posted  By Ainesh Kumar 

यह भी जाने:

How To Write Seo Friendly Article On Blogger In 2020

How To Increase Your Blog Traffic In 2020


4 thoughts on “What is backlink in hindi- बैकलिंक क्या होता है और बैकलिंक्स के लिए क्यों जरुरी है- Backlinks se blog ke ranking kaise- seo ke liye backlinks kaise banaye”

  1. Google ads मे Keyword Match Types क्या होता है। और हम उनका किस तरीके से उपयोग करते है और क्यो करते है। कितने तरीके के Google ads मे Keyword Match Types होते है। यहाँ इस पोस्ट मे हम लोग इसी टॉपिक पर बात करेंगे। आप google ads course का part – 6 पढ़ रहे है। आप अन्य पोस्ट भी जरूर पढ़ ले। Keyword Match Types Google Ads Course in Hindi part – 6 गूगल एड् कीवर्ड मैच टाइप

    Reply

Leave a Comment