Artificial Intelligence क्या है ? AI से मानव को खतरा ? AI Explained In Hindi – GVFs

आज के इस ब्लॉग में हम जानने वाले है एक ऐसे विस्तार एक ऐसी दुनिया को बदलने वाली सभ्यता जिसका नाम प्रसिद्ध है AI से जी हां क्रत्रिम बुद्धिमत्ता यानी Artificial Intelligence ( AI ) के बारे में हम क्या समझते है, आज के इस पोस्ट में देखने वाले है. इस लेख What is Artificial Intelligence in Hindi में आप जानेंगे क्रत्रिम बुद्धिमत्ता या Artificial intelligence क्या है?

आजकल तकनीक में AI ( Artificial Intelligence ) लेकर काफी बातें हो रही हैं। दुनिया की अधिकतर बड़ी-बड़ी कंपनियां AI पर रिसर्च कर रही हैं. लेकिन AI है क्या और इस तकनीक में ऐसा क्या है कि इसे भविष्य की तकनीक कहा जा रहा है ? दोस्तों आप और हम जो भी google, youtube या facebook जैसे search engine या फिर social media पर जानकारी लेते है वह सभी AI के कमाल ही होते है की हमारी mind को read करके फिर आप जो भी बार – बार search करते है उसके relevant में ads या कोई भी इनफार्मेशन देते है.

लेकिन आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस मानव सभ्यता के लिए या इस दुनिया के लिए कितना खतरनाक है? कैसे AI दुनिया को बदल रही है? और किस प्रकार Artificial Intelligence से हम इंसानों को फायेदा हो रहा है या नुकसान आज हम इस आर्टिकल में बखूबी जानने वाले है.

Related Article: Beginner’s Guide to Search Engine Optimization | Search Engine Optimization ( SEO ) को कैसे जाने व इस्तेमाल करे | SEO In Hindi

Facebook se paise kaise kamaye? | Facebook से पैसे कैसे कमाए? | Make Money Online From Facebook In Hindi

 

चलिए अब हम विस्तार से जानते है AI के बारे में की AI क्या है? कैसे AI हमे बदल सकता है? कैसे हम मानव के लिए AI नुक्सानदायक है? कैसे हम मानव के लिए AI अच्छे है? AI किस प्रकार दुनिया में क्रांति ला सकते है?

इसी तरह के और भी प्रशन को हम आज इस आर्टिकल में देखने वाले है तो आप अंत तक बने रहे मुझे उम्मीद है आपको इसमें What is AI ( Artificial Intelligence ), Disadvantages and advantages of Artificial Intelligence? इत्यादि, के बारे में पता चलेगा.

What Is Artificial Intelligence In hindi? AI Explained In Hindi ? Artificial Intelligence Kya Hai?

 

Artificial_Intelligence_Explained_Hindi

 

What Is Artificial Intelligece:आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस ने हाल ही में अतीत में मीडिया में बड़ी लहरें पैदा कीं, जब OpenAI के एलोन मस्क ने DOTA 2 या आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के विशेषज्ञों को घंटों के भीतर टाइमलाइन को नया स्वरूप दिया.

अब आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस वास्तव में क्या है? आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस मानव बुद्धि के सहयोग से कंप्यूटर के माध्यम से बुद्धिमान संस्थाओं का निर्माण कर रहा है. यह कंपनी को HI ( Human Intelligence ) को बेहतर ढंग से समझने में मदद करता है और इसका उपयोग प्रोग्राम लिखकर मानव बुद्धि के सिद्धांतों का परीक्षण करने के लिए किया जा सकता है जो इसका अनुकरण कर सकते हैं. बैंकिंग, स्वास्थ्य देखभाल, स्टॉक मार्केट ट्रेडिंग, रोबोट कंट्रोल और दूरसंचार कंपनियों जैसे क्षेत्रों में एआई का व्यापक रूप से उपयोग किया जा रहा है.

 

वास्तव में, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस अब केवल एक दूर का सपना नहीं है, बल्कि YouTube और Facebook सहित कई ऑनलाइन ऐप और सेवाओं के साथ हमारे जीवन में अच्छी तरह से मिल चुके है. इससे हमारे लिए यह समझना महत्वपूर्ण हो जाता है कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्या है? और यह कैसे काम करता है, जब हम ऐसे एप्लिकेशन और सेवाओं का उपयोग करते हैं जो अक्सर हमारे मूड को बेहतर बनाने के लिए AI का उपयोग करते हैं. आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस का मतलब है कि इंसान की सोचने की शक्ति, भावनाएं या कहें कि इंसानी विवेक हम मशीन में डाल दें.

 

सीधे शब्दों में कहें, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में ऐसे कंप्यूटर प्रोग्राम बनाना शामिल है जो कई तरह के कार्यों को करने में पूरी तरह सक्षम हैं जो अक्सर मानव कौशल जैसे कि सोच, समझ, विश्लेषण और बहुत कुछ से जुड़े होते हैं. Artificial Intelligence या “कृत्रिम बुद्धिमत्ता” कंप्यूटर साइंस की एक शाखा है, जो ऐसी मशीनों को विकसित कर रही जो मनुष्यो की तरह सोच सके और कार्य कर सके. जैसे: आवाज की पहचान, समस्या को सुलझाना, लर्निंग और प्लानिंग. यह मनुष्यों और जानवरों के द्वारा प्रदर्शित Natural intelligence के विपरीत Machines द्वारा प्रदर्शित intelligence है.

आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस, वो तकनीक है, जिसके तहत रोबोट्स किसी भी हालात में इंसानों की तरह सोच सकें और उसके मुताबिक निर्णय ले सकें. गौर करने वाली बात ये है कि आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस में अब वैसी मशीनें शामिल नहीं की जाती, जो कैमरे से देखकर सिचुएशन को एनालाइज कर सकें, बल्कि आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस में इससे भी एडवांस तकनीक शामिल की जाती है, जो किसी की भाषा को समझ सकें, निर्णय ले सकें, अपने इमोशन शेयर कर पाएं. जी हाँ, और AI के ज्यादा अनुभवी लोगों का इसी लिए कहना है की ये इंसानों के लिए खतरा साबित हो सकता है.

अब हम जानते है की आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस vs ह्यूमन इंटेलिजेंस किस प्रकार से भिन्न है ? इसके फायेदे और नुक्सान को जो AI की वजह से मानव को हुआ है या होने वाला है.

Related Article: [ Hindi] ऑनलाइन Earning : YouTube Se Paise Kaise Kamaye – Full Explained In Hindi

How to earn money with quora? Quora क्या है? Quora से पैसे कैसे कमाए? 2022

Artificial Intelligence Vs Human Intelligence Explained In Hindi? AI हमारे दैनिक जीवन को कैसे प्रभावित करेगा? आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस vs ह्यूमन इंटेलिजेंस || gyanvigyanfacts  

 

artificial intelligence hindi

 

Artificial Intelliegnce: जैसा कि हम जानते है, कि AI पूरी दुनिया में सबसे शक्तिशाली और तेजी से बढ़ती टेक्नोलॉजी है. AI एक प्रकार की कृत्रिम चेतना (Artificial consciousness) है जो मानव के निर्देश देने पर कार्य करती है. भले ही Artificial intelligence मनुष्यो द्वारा विकसित की गई है, लेकिन इसमें कोई संदेह नही की AI मनुष्यों की तुलना में अधिक कुशल, बेहतर और कम खर्च में काम करती है. इसीलिए अब कई बिज़नेस इंडस्ट्री के फील्ड में AI को काम मे लिया जा रहा है.

AI द्वारा एक ऐसे कंप्यूटर कंट्रोल्ड रोबोट या सॉफ्टवेयर बनाने की योजना है, जो वैसे ही सोच सके जैसे ह्यूमन माइंड सोचता है. Artificial Intelligence को इसमे परिपूर्ण बनाने के लिए उसे लगातार तैयार किया जा रहा है. इसके प्रशिक्षण में इसे मशीनों से अनुभव सिखाया जाता है, नए इनपुट के साथ तालमेल बनाने और मानव जैसे कार्यो को करने के लिए तैयार किया जाता है.

तो कुल मिलाकर Artificial Intelligence के उपयोग से ऐसी मशीने बन रही है, जो अपने एनवायरनमेंट के साथ इंटरैक्ट करके प्राप्त डाटा पर खुद बुद्धिमानी से कार्य कर सकती है. यानी अगर फ्यूचर में AI concept और मजबूत होता है, तो यह हमारे दोस्त जैसा होगा. अगर आपको कोई प्रॉब्लम आयेगी तो उसके लिए क्या करना है यह आपको खुद सोच कर बतायेगा.

अब हम जानते है की AI मानव सभ्यता में किस तरह से interfere करेगा या कर रहा है या योगदान दे रहा है? आईये अब हम ये जानते है. आज, कई कंपनियां अकेले मानव बुद्धि के बजाय कृत्रिम बुद्धि के माध्यम से अपनी व्यावसायिक स्थितियों का विश्लेषण करना पसंद करती हैं. हालांकि इस बात पर बहुत बहस होती है कि क्या HI के साथ AI के साथ काम करना अकेले मानव बुद्धि के साथ काम करने से बेहतर है या नहीं, हम धीरे-धीरे एक ऐसे युग की ओर बढ़ रहे हैं जहाँ मानव बुद्धि पीछे की सीट ले रही है.

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस धीरे-धीरे लोगों के सोचने और कार्य करने के तरीके को बदल रहा है और यह हमारे दिमाग को अगले स्तर पर ले जा रहा है. आज, अधिकांश उच्च सुरक्षा प्रतिष्ठान पासवर्ड के मैनुअल इनपुट पर सुरक्षित कक्षों या यहां तक ​​कि कंप्यूटरों के दरवाजे खोलने के लिए चेहरे की पहचान, उंगलियों के निशान या रेटिना स्कैन पर निर्भर हैं. बहुत जल्द, यह अनुमान लगाया गया है कि हम अपने व्यक्तिगत कंप्यूटरों को अनलॉक करने के लिए पासवर्ड टाइप करना पूरी तरह से बंद कर देंगे, बल्कि घर पर फेस रिकग्निशन स्कैनर का उपयोग करेंगे. इसलिए, इसे संक्षेप में कहें तो, हालांकि आर्थिक और सामाजिक प्रगति के लिए हम अभी भी काफी हद तक HI पर निर्भर हैं, लेकिन यह निर्भरता लगातार घट रही है और हर बीतते दिन के साथ हम कृत्रिम बुद्धिमत्ता की ओर अधिक झुक रहे हैं. सामाजिक और आर्थिक रूप से विकसित करने में मदद करने के लिए, अब AI को ज्यादा महत्व दिया जा रहा है.

रोबोट कोई नई बात नहीं है. हालांकि, AI  अधिक बुद्धिमान क्षमताओं वाले रोबोटों को विकसित और प्रभावित करता है. अलीबाबा के चीन में रेस्तरां की श्रृंखला का मामला लें, जो अब वेटर के बजाय रोबोट का उपयोग करते हैं. रेस्तरां वेटर्स को भुगतान की जाने वाली मजदूरी पर बचत करता है और ग्राहकों को सेवाओं, बेहतर भोजन और कम कीमतों का लाभ मिलता है.

अब जो बुजुर्ग है उनके देखभाल के लिए रोबोट उनकी शारीरिक और स्वास्थ्य स्थितियों पर भी नजर रख सकते हैं और जरूरत पड़ने पर डॉक्टरों को सचेत कर सकते हैं. रोबोटिक निर्माण प्रक्रिया के परिणामस्वरूप ऐसे उत्पाद बनते हैं जिनकी गुणवत्ता बेहतर होती है और फिर भी उनकी कीमत कम होती है. एआई विभिन्न लोगों के लिए विभिन्न स्तरों पर जीवन की गुणवत्ता में सुधार करता है.

1. स्वास्थ्य देखभाल: स्वास्थ्य सेवा दिन-ब-दिन महंगी होती जा रही है और डॉक्टरों पर इतने दबाव के साथ, यह आश्चर्य की बात नहीं है कि कई मामलों का गलत निदान किया जाता है. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और इसकी सबसेट मशीन लर्निंग मेडिकल डेटा का त्वरित विश्लेषण करना सीख सकती है और डॉक्टरों की तुलना में तेजी से निदान पर पहुंच सकती है और कभी-कभी, यहां तक ​​कि उन मुद्दों की पहचान भी कर सकती है जिन्हें डॉक्टर याद कर सकते हैं. सामान्य लोगों के बारे में बात करें और स्मार्ट पहनने योग्य एक एआई-पावर्ड डिवाइस है जो आपकी स्थिति को ट्रैक करता है और आपको अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने या यहां तक ​​कि इसे सुधारने में मदद करता है.

2. अपराध और धोखाधड़ी:  एआई ऑनलाइन  लेन-देन में विसंगतियों का पता लगाने और धोखाधड़ी के प्रयासों की पहचान करने के लिए वित्तीय संस्थानों द्वारा एआई का तेजी से उपयोग किया जा रहा है. ट्रैफिक या सुरक्षा कैमरों में एआई आसानी से लोगों को चेहरों से पहचान सकता है और यहां तक ​​कि धुंधली तस्वीरों को तेज करके कानून प्रवर्तन एजेंसियों की मदद कर सकता है. अगर जीवन सुरक्षित है और आगे भी ऐसा ही रहेगा, तो यह काफी हद तक एआई के योगदान के कारण होगा.

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस बहुत उपयोगी हो सकता है जब दक्षता बढ़ाने और समय बचाने की बात आती है, खासकर क्योंकि यह लोगों की तुलना में तेज़ है और थकता नहीं है, नए पैटर्न और समाधान ढूंढकर मौजूदा खुफिया जानकारी में और जोड़ सकता है, मनुष्यों की तुलना में अधिक सटीक है और सबसे महत्वपूर्ण में से एक है.

श्रम, वित्त, कानून, शिक्षा, सुरक्षा और स्वास्थ्य देखभाल सहित कई क्षेत्रों में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस तेजी से बढ़ रहा है.

Artificial Intelligence दुनिया को कैसे बदल देगा? How AI will change the world?

जैसा कि देखा जा सकता है, AI औद्योगिक से लेकर वाणिज्यिक से लेकर घरेलू और यहां तक ​​कि सैन्य गतिविधियों के सभी क्षेत्रों में है. AI की यह लहर जीवन को कैसे प्रभावित करती है? वे अपनी दिमागी शक्ति का उपयोग कुछ बेहतर और अधिक बुद्धिमान के साथ-साथ आत्मा के लिए संतोषजनक करने के लिए कर सकते हैं. अधिक से अधिक लोग बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं की सुविधा का आनंद लेंगे. लोग अपने जीवनकाल को बढ़ा हुआ देख सकते हैं. कार्यालय अधिक उत्पादक बन जाते हैं क्योंकि बुद्धिमान रोबोट सहायक नोट्स लेते हैं या नियमित कार्य करते हैं जिससे कर्मचारियों पर भार कम होता है और उन्हें अधिक उत्पादक और साथ ही संतोषजनक कार्य करने के लिए मुक्त किया जाता है. तो चलिये अब आपको AI के कुछ लक्ष्यों को बताते है जिसे हासिल करके यह AI technology जल्द ही हम तक पहुच जाएगी।

1. निर्णय लेने की शक्ति बढ़ाना ( Dicision Making Power ): आपको बता दे की Artificial Intelligence का प्रथम लक्ष्य यही है, कि मनुष्यो की तरह सोचने वाली थिंकिंग मशीन को बनाया जाये. जो मानव की किसी भी समस्या को खुद से डिसिशन लेकर हल कर सके. इस दिशा में AI ने कुछ उपलब्धियां भी हासिल की है. अभी हाल में एक female AI Robot (Sophia) को बनाया गया. इसके पास कुछ हद तक डिसिशन मेकिंग पावर है और यह आपके किसी भी सवाल का जवाब आसानी से दे सकती है. ऐसे ही कुछ AI Concept आपको स्मार्ट डिवाइस में भी देखने को मिलेंगे जैसे Google home, Siri, Alexa इत्यादि.

2. प्रयासों को कम करता है: लोग रोजमर्रा की गतिविधियों जैसे ऑनलाइन खरीदारी, अपने घरों और कार्यालयों में उपकरणों को चालू या बंद करने, ईमेल करने और सौ अन्य चीजों में संलग्न होते हैं. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस हर तरह से मदद करता है. ऑनलाइन खरीदारी करें और साइटें आपकी प्राथमिकताओं को याद रखें और सिफारिशें करें. अपना ईमेल खाता खोलें और बुद्धिमान सॉफ्टवेयर स्पैम को हटा देगा और यहां तक ​​कि आपके द्वारा निर्धारित नियमों के अनुसार मेल को वर्गीकृत भी करेगा. ट्रैफ़िक में ड्राइव करें और AI सबसे छोटे या कम से कम भीड़भाड़ वाले मार्गों को खोजने में मदद करेगा. Google के सेल्फ-ड्राइविंग कार प्रोजेक्ट के बारे में हर कोई जानता है और यह सड़कों पर एक नियमित चीज़ बनने से पहले की बात है. आप एक आदेश जारी करते हैं और डिवाइस बाकी काम करता है. अब सवाल ये है की  क्या यह लोगों को आलसी बना देगा या वे बचाए गए समय और प्रयास का उपयोग कुछ बेहतर करने के लिए करेंगे? जबकि एआई के कारण कुछ नौकरियां जा सकती हैं, मनुष्य ऐसे काम कर पाएंगे जो एआई अब नहीं कर सकता. आप क्या सोचते है जरुर लिखे.

हम इंसान किसी कार्य को करने में काफी आलसी होते है, जिसके कारण हम अपने कामो को पूरा करने में बहुत ज्यादा समय लगाते है और उनमे ज्यादा गलतियां भी होती है. इंसानो की इसी आदत को देखते हुवे AI researches इस दिशा में बहुत तेजी से काम कर रहे. इनका मूल मकसद AI को ऐसा बनाना है ताकि वो किसी भी कार्य को न्यूनतम गलती के साथ तेजी से कर पाये.

3. समय की बचत:  अब जाहिर सी बात है, AI मनुष्यो की तुलना में काफी अधिक तेजी से काम कर सकता है. क्योंकि यह एक प्रकार की मशीन है, इसलिए यह काम करने में कभी नही थकता और हमारी तरह कभी ब्रेक भी नही लेता. इस विषय को देखते हुवे कई ऐसी AI मशीन बनाई जा रही है, जो जल्द ही मनुष्यों की जगह ले लेगी, इत्यादि.

पिछले कुछ सालों में टेक्नोलॉजी को एक अलग स्तर में ले जाने के लिये कंप्यूटर साइंस के कुछ साइंटिस्ट ने AI कांसेप्ट को दुनिया के सामने रखा था. इसका मूल मकसद ऐसे कंप्यूटर कंट्रोल्ड रोबोट या सॉफ्टवेयर बनाना था जो इंसानो की तरह सोच कर किसी समस्या का हल निकाल सके.

Related Article: Net Banking Kya Hai- Net Banking Kaise Hota Hai- नेट बैंकिंग के क्या फायदे या नुकसान है- Explained In Hindi

Webmoney Kya Hai – WebMoney क्या है? वेबमोनी-पर्स क्या है – How to create webmoney account in 2022

 

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के फायदे और नुक्सान क्या है? What is advantages and disadvantages of AI? Explained In Hindi || By Ainesh Kumar

 

AI

 

आज AI एक बहुत ही लोकप्रिय विषय है, जिसकी टेक्नोलॉजी और बिज़नेस के क्षेत्रो में काफी चर्चा है. कई विशेषज्ञों और उद्योग के जानकारों का मानना है, की AI या machine learning हमारा भविष्य है. लेकिन अगर हम अपने चारों तरफ देखे तो हम पाएंगे की यह हमारा भविष्य नही बल्कि वर्तमान है. टेक्नोलॉजी के विकास के साथ आज हम किसी न किसी तरीके से Artificial Intelligence से जुड़े हुवे है और इसका फायदा भी ले रहे है.

लेकिन कई दूसरे साइंटिस्ट्स का मानना है कि टेक्नोलॉजी में इस तरह के डेवलपमेंट मशीनो को सुपर इंटेलिजेंस बना सकता है जो आगे चलकर मानव अस्तित्व के लिए खतरा पैदा करेगा. Artificial Intelligence या Machine Learning इंसानो के लिए कितनी फायदेमंद होगी यह तो आने वाला भविष्य ही बताएगा. लेकिन अभी हम जानते है AI के फायेदे और नुक्सान को, तो आईये देखे.

AI के फायेदे 

प्रौद्योगिकी में सबसे गलत समझे जाने वाले शब्दों में से एक कृत्रिम बुद्धिमत्ता ( AI )है. इस बारे में कई तर्क दिए गए हैं कि यह कैसे मानव जाति के लिए एक बहुत ही परेशान करने वाली अवधारणा बन सकती है. हालांकि, बिना जाने, संज्ञानात्मक प्रणाली पहले से ही उपयोग में है और यहां तक ​​कि इसके प्रभाव से डरने वाले सभी लोगों द्वारा सराहना की जाती है. कुछ लोगों का तर्क है कि इससे कई विकृतियाँ पैदा होंगी, विशेषकर बेरोज़गारी. हालाँकि, कृत्रिम बुद्धिमत्ता का प्रबंधन, रखरखाव और यहाँ तक कि मनुष्यों द्वारा कोड भी किया जाता है. यह बेरोजगारी के बजाय रोजगार का साधन है.

इसका सीधा सा मतलब यह है कि कृत्रिम बुद्धिमत्ता मानव जीवन को बेहतर बनाने और तनाव को कम करने में मदद कर सकती है. यहां आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के फायदे दिए गए हैं.

  • 1. स्वचालित सिस्टम ( Automatic System ): औद्योगिक क्षेत्र के विकास के बाद से, प्रौद्योगिकी के सुधार को हमेशा मान्यता मिली है और कार्यों में सुधार के लिए स्वचालित प्रणालियों के साथ काम किया है. होटल बुकिंग में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का परिचय, ट्रैक्टर और फैक्ट्री मशीन सभी तेजी से स्वचालित हो रहे हैं, जिसमें कचरे को कम करने, त्रुटियों को कम करने और उत्पादन में सुधार करने के कई फायदे हैं.व्यवसाय के रूप में, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एक बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए आ गया है जो एक व्यवसाय, एक सरकार और यहां तक ​​​​कि पूरी अर्थव्यवस्था का चेहरा बदल सकता है, जो कि चीजों को और अधिक परिष्कृत तरीके से करने के नियमित तरीके से बदल सकता है.
  • 2. डिजिटल व्हीकल्स ( Digital Vehicles ): Aartificial Intelligence को भविष्य की तकनीक इसलिए कहा जा रहा है कि इससे दुनिया में क्रांतिकारी बदलाव आने की उम्मीद की जा रही है. Google ने तो आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस पर आधारित कारें बनाने पर रिसर्च भी शुरु कर दिया है. ऐसी कारों को चलाने के लिए किसी ड्राइवर की जरुरत नहीं होगी. ये कारें सेंसर की मदद से चलेंगी, जिससे सड़क दुर्घटनाओं पर रोक लग सकेंगी. हालांकि अभी यह रिसर्च प्रोसेस में है और इसमें कुछ और वक्त लग सकता है.
  • 3. नई जानकारी का त्वरित इनपुट और प्रबंधन ( Quick input and management of new information ): वर्षों से, कंपनियां लगातार तारीख का प्रबंधन करने, उन्हें तेजी से इनपुट करने और जरूरत पड़ने पर उन्हें पुनर्प्राप्त करने के तरीकों की तलाश कर रही हैं. हालांकि, डेटा को तेज दर से लगाया जा सकता है और रिकवरी में भी तेज हो सकता है, और कृत्रिम बुद्धि के उपयोग से समय बर्बाद किए बिना हर एक फाइल को तदनुसार व्यवस्थित कर सकता है.
  • 4. धोखाधड़ी का पता लगाना ( Fraud Detection ): कई कपटपूर्ण व्यवहारों के डेटा विश्लेषण द्वारा धोखाधड़ी का पता लगाने में कृत्रिम बुद्धिमत्ता को तैनात किया जा सकता है. सिस्टम लिंक और संभावित दिशा का पता लगा सकता है, जो कृत्रिम बुद्धि के आवेदन के माध्यम से धोखाधड़ी की सबसे अधिक संभावना है, जिसमें एक संज्ञानात्मक प्रणाली में तैनात पिछले रिकॉर्ड का डेटा विश्लेषण ट्रैक, ट्रेस, और यहां तक ​​​​कि पूरी तरह से जागरूक होना संभव है होने से पहले धोखाधड़ी की कार्रवाई की जा सकती है.

AI के खतरे

आखिर में अब हम जानते है की Artificial Intelligence से हम मानव सभ्यता को क्या खतरा हो रहा है या भविष्य में होगा, तो वैसे तो भविष्य किसी ने देखा नहीं है लेकिन कुछ result है जो AI के आने से हो सकता है. उसे मैंने निचे लिखा है.

आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस को लेकर कहा जा रहा है कि यह तकनीक भविष्य में इंसानों के लिए मददगार या फिर नुकसानदायक भी हो सकती है. दरअसल आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस मिल जाने के बाद मशीनें यदि खुद निर्णय ले सकेंगी तो उनकी इंसानों पर निर्भरता खत्म हो जाएगी. ऐसे में वह इंसानों के लिए नुकसानदायक भी हो सकती हैं .

इसके साथ ही इंसानों और मशीनों में प्रतिस्पर्धा भी हो सकती है. बता दें कि हाल ही में Facebook की टीम आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस पर रिसर्च कर रही थी, इसी दौरान दो मशीनों ने आश्चर्यजनक रुप से आपस में कम्यूनिकेट करना शुरु कर दिया. इस दौरान मशीनों ने कोई खास कोडिंग भाषा डेवलेप कर ली और आपस में बातें करना शुरु कर दिया था.

लोगों के रोजगार छीने जा रहे है, अब हर काम तुरंत हो जा रहे है इसका सिर्फ AI कारन है अब AI अच्छा भी है की लोगों का समय और मेहनत बचा रहा है वही दूसरी ओर गरीबों का रोजगार भी जा रहे है. खैर, ये तो अभी शुरुआत है आगे सब कुछ बदल जाएगा कुछ भी आज जैसा नहीं होगा.

मतलब कि जो काम आज इंसान कर सकता है भविष्य में वो काम मशीनें कर सकेंगी और वो भी बिना इंसानों की मदद के. इस तरह मशीनें इंसानों के लिए वो हर तरह के खतरे पैदा कर सकती हैं, जो आज एक इंसान दूसरे इंसान के लिए करता है. यही वजह है कि आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस को लेकर उम्मीदों के साथ ही आशंकाएं भी जुड़ी हुई हैं. बहरहाल यह तो भविष्य में ही पता चलेगा कि आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस इंसानों के लिए कारगर रही या फिर नुकसानदायक.

आपके लिए है इसे भी जरुर पढ़े: क्रेडिट, डेबिट और एटीएम कार्ड में क्या अंतर है || Credit, Debit & ATM Card || Explained By Ainesh Kumar

How To Find a SWIFT CODE Of Your Bank Account ? what is the Ifsc code Explained in Hindi

YouTube Shorts विडियो क्या है || YouTube Shorts से पैसे कैसे कमाए || YouTube शॉर्ट्स विडियो कैसे बनाये || Shorts विडियो In Hindi

{ HINDI } How to Earn Money Writing and Selling Books || How to Sell More Books || Book Reviews || Book Marketing Plan

Leave a Comment