Aarogya Setu App क्या है ? इसका कैसे प्रयोग करें । पूरी जानकारी । How to use Aarogya Setu App In Hindi ? – Explained By Ainesh Kumar

AaROGYA SETU APP, आरोग्य सेतु एप:- कोरोना वायरस से बचने का रामबाण उपाय, AaROGYA SETU APP DOWNLOAD AND INSTALL
 
aarogya-setu-app-how-to-use-arogya-in-hindi,setu-app-in-hindi aarogya-setu-app-in-hindi
aarogya-setu-app-kya-hai

 

 

Hey Dosto,आज हम जिस माहौल ( कोरोना + LOCKDOWN )  से गुजर रहे है बस हम भगवान और अल्लाह से यही दुआ करेंगे की फिर इस 
तरह की महामारी से हम ना गुजरे। 

दोस्तों जैसे कि आप लोगों को पता है,पूरे देश और दुनिया में कोरोना वायरस कितनी तेजी से फैल रही है और इसी को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार के द्वारा कोरोनावायरस ट्रेकिंग के लिए एक एप्लीकेशन बनाया गया है जिसका नाम Arogya Setu App रखा गया है । आज के इस आर्टिकल में हम आपको Arogya Setu App का उपयोग कैसे करना है इसकी जानकारी देंगे साथ ही हम आपको Arogya Setu App Download करने का प्रोसेस भी बताएंगे ।

तो दोस्तों बिना देरी किये चलिए शुरू करते है …So Let’s Start…

                                          ↳👇👇👇↲

 

Aarogya Setu: उदाहरण से समझिए कोरोना से कैसे बचाता है आरोग्य सेतु एप?

कोरोना वायरस से लड़ने के लिए आरोग्य सेतु एप को सरकार ने सबसे अहम हथियार बताया है। आरोग्य सेतु एप को पहले ही सप्ताह में चार करोड़ से अधिक लोगों ने डाउनलोड किया था। आरोग्य सेतु एप एक कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग एप है। कोरोना वायरस के संक्रमण को ट्रेस करने के लिए केवल भारत ही नहीं, बल्कि कई देश इस तरह के एप की मदद ले रहे हैं।
एक रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना से जूझ रही दुनिया की 60 फीसदी आबादी इस तरह के एप का इस्तेमाल कर रही है। कई देशों में क्वारंटीन किए गए लोगों को ट्रैक करने के लिए स्मार्ट रिस्टबैंड का भी इस्तेमाल किया जा रहा है। 
 
कैसे काम करते हैं कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग एप्स? कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग एप लोकेशन और ब्लूटूथ आधारित होते हैं। ब्लूटूथ आधारित एप्स सोशल डिस्टेंसिंग की जांच करता है, क्योंकि ब्लूटूथ की रेंज 10 मीटर तक होती है और सरकार ने सोशल डिस्टेंसिंग के लिए छह मीटर की दूरी निर्धारित की है, जबकि कई शोध में इसे आठ मीटर भी बताया गया है। 10 मीटर की रेंज में किसी के संपर्क में आने पर ब्लूटूथ आधारित एप लोगों को अलर्ट करते हैं। लोकेशन आधारित एप्स की बात करें तो यदि आपके फोन में ऐसे एप्स हैं और आप किसी कोरोना संक्रमित इलाके में जाते हैं तो एप आपको अलर्ट करेगा।

कैसे काम करता है आरोग्य सेतु एप?

अब बात करें भारत सरकार की आरोग्य सेतु एप की तो इस एप को भारत सरकार ने दो अप्रैल को लॉन्च किया था और 18 अप्रैल तक इसके यूजर्स की संख्या 6.5 करोड़ के पार पहुंच गई थी। यह एप एंड्रॉयड और आईओएस दोनों डिवाइस के लिए उपलब्ध है। आरोग्य सेतु एप एक लोकेशन आधारित एप है। आइए आरोग्य सेतु एप की कार्यप्रणाली को एक उदाहरण से समझने की कोशिश करते हैं…
 
ट्रेसिंग एप लोकेशन और ब्लूटूथ आधारित होते हैं। ब्लूटूथ आधारित एप्स सोशल डिस्टेंसिंग की जांच करता है, क्योंकि ब्लूटूथ की रेंज 10 मीटर तक होती है और सरकार ने सोशल डिस्टेंसिंग के लिए छह मीटर की दूरी निर्धारित की है, जबकि कई शोध में इसे आठ मीटर भी बताया गया है। 10 मीटर की रेंज में किसी के संपर्क में आने पर ब्लूटूथ आधारित एप लोगों को अलर्ट करते हैं। लोकेशन आधारित एप्स की बात करें तो यदि आपके फोन में ऐसे एप्स हैं और आप किसी कोरोना संक्रमित इलाके में जाते हैं तो एप आपको अलर्ट करेगा।  

 

आरोग्य सेतु एप क्या है ???

आरोग्य सेतु कोरोना ट्रैकिंग ऐप है, जिसे भारत सरकार के द्वारा बनाया गया है । आरोग्य सेतु एप का इस्तेमाल कर आप यह जान पाएंगे कि आप कोरोना संक्रमित है या नहीं साथ ही आप अपने नजदीक में मौजूद कोरोना संक्रमित व्यक्ति की भी जानकारी प्राप्त कर पाएंगे ।

यानी आप जब अपने फोन में आरोग्य सेतु ऐप को इंस्टॉल करते हो तो यह ऐप आपको बता देता है कि आपके आसपास में कोरोनावायरस रोग कोई व्यक्ति नहीं है या नहीं।

अगर आपको कोरोनावायरस टाइप व्यक्ति की जानकारी पता चल जाती है तो आप उनसे दूरी बना लेते हैं और अगर आप उनसे दूरी बना लेते हैं तो जाहिर सी बात है आप कोरोनावायरस से खुद को सुरक्षित कर पाओगे।


यानी सरकार के द्वारा बनाई गई आरोग्य सेतु ऐप आपको कोरोनावायरस टाइप रोगी जो आपकी अगल-बगल में है उसकी जानकारी उपलब्ध है।

आरोग्य सेतु एप्प कैसे काम करता है  ???

आरोग्य सेतु ऐप जब आपका फोन में इनस्टॉल होता है, तो आपसे  कुछ अनुमति मांगता है, जिससे यह आपके स्थान को एक्सेस करने में सक्षम होता है। जब आप इस एप्लिकेशन को अपने लोकेशन का सामान दे देते हैं तो यह आपके लोकेशन को अपने सर्वर पर सहेजता है और दूसरे आरोग्य सेतु ऐप संचालक के पास तब शेयर करता है, जब आप कोरोना संक्रमित  होते हैं।

कृपया ध्यान दें: – आरोग्य सेतु ऐप आपको केवल कोरोनावायरसफॉर्म रोगियों की जानकारी देगा जब कोरोनावायरस रोग रोगी स्वयं आरोग्य सेतु ऐप का इस्तेमाल करें और अपने फोन में ब्लूटूथ और जीपीएस को चालू रखें।


नोट: – यदि कोरोनावायरस हानिकारक रोगी अरोग्या सेतु ऐप का इस्तेमाल नहीं करता है तो और ना चाहते हुए भी आपके निकट में अगर कोई कोरोनावायरस दवा रोगी है तो आपको उसकी जानकारी नहीं मिल पाएगी


आरोग्य सेतु एप काम कैसे करता है ???


Aarogya Setu App सबसे पहले आप अपने फोन में इंस्टॉल करते हैं, जब आप इसे इंस्टॉल करते हैं तो आपके सामने इसके कुछ Instruction आते हैं जिसे आप को ध्यान पूर्वक पढ़ना होता है ।

Arogya Setu App में आपसे जितने भी Permission माने जाते हैं आप को सभी Permission को  Allow करना है  ।

इसके बाद यह आपसे आपका Bluetooth और GPS के ऑप्शन को Enable करने को कहेगा , अब आपको यहां पर अपना मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा और ऐप में मांगी गई सभी जानकारी दर्ज करनी होगी ।

नोट :- ऐप में आप जितनी भी जानकारी दर्ज करोगे सभी जानकारी सरकार के पास पहुंचाई जाएगी । 

जब आप अपनी सभी जानकारी दर्ज करते हैं तो सरकार के पास जो डेटाबेस मौजूद है उस हिसाब से यह ऐप आपको बताता है कि आप कोरोना संक्रमित हैं या नहीं , तथा आप कोरोना वायरस के किस स्टेज पर हैं  या नहीं ।


नोट :- आरोग्य सेतु एप आपके द्वारा दी गई जानकारी के हिसाब से आपको यह बताता है कि आप कोरोना संक्रमित है या नहीं साथ ही यह ऐप आपको अपने नजदीक में मौजूद कोरोना संक्रमित व्यक्ति की भी जानकारी पहुंचाता है ।

 मुझे कैसे पता चलेगा की मुझे कोरोना है की नहीं ???


आरोग्य सेतु कोरोना ट्रैकिंग एप में जब आप अपनी जानकारी दर्ज करते हैं तो यहां पर बहुत सारे रंगों के पैटर्न होते हैं । इन रंगों के पैटर्न का काम आपको यह बताना है कि आप कोरोनावायरस से कितना संक्रमित है ।

Green Code Arogya Setu App : एप्लीकेशन का उपयोग करने पर यदि हरे रंग का कोड आपको दिखाई देता है यानी कि आप अब तक कोरोना वायरस के संपर्क में नहीं आए हैं ।

Yellow Code Arogya Setu App : यदि कोरोना ट्रैकिंग एप्लिकेशन का उपयोग करने में आपको पीले रंग का कोड दिखाई देता है यानी कि आप कोरोनावायरस के संपर्क में आए हैं और आप थोड़ा सा संक्रमित भी हैं । पीले रंग का कोड आने पर आप अपने आप को घर में ही रखें खुद को Self-Quarantine करें । घर में अपने अन्य सदस्यों से जितना संभव हो दूरी बनाकर रखें, खासकर बुजुर्ग और बच्चों से ।

यदि आप पर कोरोनावायरस का असर ज्यादा दिखने लगता है तो सरकार के द्वारा जारी किए गए हेल्पलाइन नंबर 1075 पर कांटेक्ट करें ।

RED Code Arogya Setu App : लाल रंग का मतलब हमेशा से खतरा ही है जब आप आरोग्य सेतु कोरोना ट्रैकिंग एप का इस्तेमाल करते हैं और आपको लाल रंग का कोड दिखता है यानी आप कोरोनावायरस से संक्रमित हैं । लाल कोड दिखने की स्थिति में जल्द से जल्द आप अपने नजदीकी अस्पताल से संपर्क करें या कोरोना टोल फ्री नंबर 1075 पर कांटेक्ट करें ।

AAROGYA SETU APP DOWNLOAD कैसे करें ???

जैसा कि हमने आपको पहले भी बताया Arogya Setu App , Android Play Store तथा IOS Apple Store दोनों पर मौजूद है ।


आपके पास अगर Android phone है तो Play store का प्रयोग करें और IOS PHONE है तो Apple Store का प्रयोग करें ।

AAROGYA SETU APP फ़ोन के Playstore से कैसे Download  करे ?


➡️ सबसे पहले अपने Android phone में Play store को ओपन करें ।
➡️ सर्च बॉक्स में जाएं और Arogya Setu App सर्च करें ।

➡️ कुछ ऐसा रिजल्ट आपको देखने को मिलेगा । 👇👇

                                                                           aarogya-app-playstore-in-hindi

aarogya-app-kya-hai,aarogya-kya-hai

➡️ ध्यान दें प्ले स्टोर पर इसके प्रकाशक NIC eGOV मोबाइल ऐप्स है। दूसरे किसी पब्लिशर्स द्वारा पब्लिश ऐप को डाउनलोड ना करें।

➡️ अब आप इंस्टॉल के बटन पर क्लिक करें और एप्लिकेशन को अपने फोन में डाउनलोड और इंस्टॉल होने दे।

अरोग्या सेतु एप्प  Apple Play store( IOS )  में  डाउनलोड कैसे करें ???

➡️ सबसे पहले अपने Apple Phone में Apple Store को Open करें।
➡️ सर्च बॉक्स में गो और आरोग्य सेतु ऐप (कोरोना Tracking ) सर्च करें।
➡️ कुछ ऐसा रिजल्ट आपको देखने को मिलेगा। 👇👇

aarogya-setu-app,aarogya-setu-app-kya-hai
aarogyasetu app




➡️ ध्यान दें Apple Store पर इसके पब्लिशर NIC eGOV मोबाइल ऐप्स है। दूसरे किसी पब्लिशर्स द्वारा पब्लिश ऐप को डाउनलोड ना करें।

➡️ अब आप इंस्टॉल के बटन पर क्लिक करें और एप्लिकेशन को अपने फोन में डाउनलोड और इंस्टॉल होने दे।

 

अब आपके फोन में एप्लीकेशन इंस्टॉल हो चुका है । आगे की प्रक्रिया अपनाएं ।

➡️ फोन में एप्लीकेशन इंस्टॉल होने के बाद आप इसे ओपन करेंगे और सबसे पहले आपको यहां पर अपना भाषा का चयन करना होगा ।
➡️ भाषा का चयन करते ही आपको Next के बटन पर क्लिक करना होगा ।

➡️ अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आ जाएगा इस पेज में आपको एप्लीकेशन से संबंधित सभी जानकारी देखने को मिलेगी जिसे Instruction कहते हैं Instruction को ध्यानपूर्वक पढ़ें और इसके बाद आपको एप्लीकेशन के तहत अपने आपको रजिस्टर्ड करना होगा ।

AAROGYA SETU APP REGISTRATION PROCESS

➡️ इंस्ट्रक्शन को फॉलो करने के बाद आपके सामने आरोग्य सेतु एप रजिस्ट्रेशन पेज खुलकर आ जाएगा ।
➡️ यहां पर सबसे पहले आपसे ब्लूटूथ डाटा और लोकेशन शेयर करने की इजाजत मांगी जाएगी उसके बाद आपको अगले स्टेप को फॉलो करना होगा ।
➡️ अगले स्टेट में आपको अपना मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा और आपके मोबाइल नंबर पर जो ओटीपी आएगा ओटीपी को दर्ज कर आपको एप्लीकेशन में अपना एक अकाउंट बना लेना होगा ।

➡️ अब यहां पर आपसे आपकी कुछ निजी जानकारी मांगी जाएगी जिसमें आपका नाम, आपका उम्र ,आपका पता और आपको क्या दिक्कत है उसकी जानकारी दर्ज करनी होगी ।

नोट :- दिक्कत से हमारा तात्पर्य आपके अंदर कोरोनावायरस जैसे कोई लक्षण है या नहीं उसकी जानकारी से है ।

➡️ अब यहां पर आपको यह बताना होगा कि आपने पिछले 30 दिनों के भीतर कोई भी विदेश यात्रा की थी या नहीं ।
➡️ इस एप्लीकेशन को सही से काम करने के लिए आपको यहां पर अपनी सभी जानकारी सही भरनी होगी ।


नोट :- अब आपका रजिस्ट्रेशन आरोग्य सेतु एप में हो चुका है और आप आरोग्य सेतु एप का इस्तेमाल कर सकते हैं ।  

 

Some Questions 

प्रश्न 1 . क्या आरोग्य सेतु एप एंड्राइड फोन यूजर के लिए बनाया गया है ?

जी “हां” अगर आप एंड्राइड फोन यूजर हैं तो आप आरोग्य सेतु एप को प्ले स्टोर से Arogya Setu App Download कर सकते हैं ।

प्रश्न 2 . आरोग्य सेतु एप में लाल रंग का निशान क्या दर्शाता है ?

आरोग्यसेतु एप में अगर आपकी ट्रैकिंग लाल रंग की आती है यानी आप कोरोनावायरस संक्रमित है । लाल रंग का कोड आने पर आप अपने नजदीकी सरकारी अस्पताल में शीघ्र संपर्क करें या फिर आप कोरोना वायरस टोल फ्री नंबर 1075 पर संपर्क करें । अन्यथा आप राज्य सरकार के द्वारा जारी किए गए हेल्पलाइन नंबर पर भी संपर्क कर सकते हैं ।

प्रश्न 3 . आरोग्य सेतु एप में पीले रंग का निशान क्या दर्शाता है ?

आरोग्य सेतु एप में यदि आपके स्वास्थ्य की रेटिंग पीले रंग की है इसका मतलब यह है कि आप हाल ही में कोरोना संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए हैं और आप कोरोनावायरस से थोड़ा सा संक्रमित हैं ।

पीला रंग आने की स्थिति में आप खुद को अपने घर में Self -Quarantine कर सकते हैं , आप अपने घर के बुजुर्ग और बच्चों से दूरी बनाकर रख सकते हैं । जरूरत पड़ने पर नजदीकी सरकारी अस्पताल या कोरोनावायरस हेल्पलाइन नंबर 1075 पर संपर्क करें ।

प्रश्न 4 . आरोग्य सेतु एप में हरे रंग का निशान क्या दर्शाता है ?

आरोग्य सेतु एप में यदि आपके स्वास्थ्य की रेटिंग हरे रंग की है तो आपको हरी झंडी मिल चुकी है यानी आप ना ही कोरोना वायरस संक्रमित मरीज के संपर्क में आए हैं और ना ही आपको कोरोनावायरस है आप पूरी तरह से स्वस्थ हैं ।

आप Video देख सकते है और ज्यादा जान सकते है इस आरोग्य सेतु एप्प के बारे में की क्यों इसे फ़ोन में रखना जरुरी है :- 

                       

 

Aarogya Setu App कहा उपलब्ध है ???


आरोग्य सेतु एप एंड्रॉयड और IOS  दोनों पर उपलब्ध है। इसे App  स्टोर के जरिये डाउनलोड किया जा सकता है। मैंने  नीचे लिंक भी दिए हैं:


ANDROID : 

https://play.google.com/store/apps/details?id=nic.goi.aarogyasetu

IOS :
https://apps.apple.com/in/app/aarogyasetu/id1505825357  



नोट :- आरोग्य सेतु एप का इस्तेमाल आप खुद भी करें और इस ऐप को अपने दोस्तों रिश्तेदारों से भी इस्तेमाल करने को कहें ।

नोट :- ऐसे ही आर्टिकल हम रोजाना अपनी वेबसाइट gyanvigyanfacts.blogspot.com के माध्यम से देते हैं तो आप हमारी वेबसाइट को फॉलो जरूर करें ।

                                       

you-are-safe-by-aarogya-in-hindi
you are safe by aarogya


इस आर्टिकल को जितना हो सके उतना शेयर करें ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को आरोग्य सेतु एप के बारे में जानकारी मिल सके ।

इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद…

Posted by Ainesh Kumar 

3 thoughts on “Aarogya Setu App क्या है ? इसका कैसे प्रयोग करें । पूरी जानकारी । How to use Aarogya Setu App In Hindi ? – Explained By Ainesh Kumar”

  1. Hi Everyone, i hope you felt great while reading. Agar Aap Sab Ko Iss Article Se Kuch Sikhne Ko Mila Hai,To Please Iss Article Ko Bahut se Bahut Share Kare.
    If You Have Any Query Pls Comment Below,Thank You.

    Reply
  2. यह आर्टिकल इतना अच्छा था की मेने इस आर्टिकल का एक शब्द भी छोड़ा नहीं , इस आर्टिकल को पढ़ते – पढ़ते समय कब बीत गया पता ही नही चल पाया. sir में आपके आर्टिकल रोज पढ़ता हूं और अच्छा लगने पर शेयर भी करता हूं. आपसे सीखकर मेने aarogya setu app kya hai और download kaise kare पर आर्टिकल लिखा है. sir , आप हमेशा आर्टिकल लिख कर हमारी मदद करते हैं और हमारा भी फर्ज बनता है की आपके आर्टिकल ज्यादा से ज्यादा शेयर करे. sir, अब मुझे जाने की इजाजत दीजिए.

    Reply

Leave a Comment